बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री की छवि बिगाड़ने को लेकर 38 फिल्म कम्पनियों और संस्थाओं ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। दरअसल यह याचिका बॉलीवुड के खिलाफ गैर जिम्मेदाराना और अपमानजनक टिप्पणी करने से रोकने के लिए की गई है। याचिका दायर करने वालों में शाहरुख खान, सलमान खान, आमिर खान, आदित्य चोपड़ा, फरहान अख्तर और अजय देवगन की कम्पनियों समेत कई बड़े प्रोडक्शन हाउसेज शामिल हैं।

याचिका में बॉलीवुड हस्तियों द्वारा मीडिया ट्रायल रोकने की मांग भी की गई है। दिल्ली हाई कोर्ट में जो याचिका दाख़िल की गई है, उसमें रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाऊ के नाम शामिल हैं। साथ ही अर्नब गोस्वामी, प्रदीप भंडारी, राहुल शिवशंकर और नविका कुमार को भी पार्टी बनाया गया है। इस तरह बॉलीवुड ने एकजुट होकर इन चैनलों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

याचिका में ना सिर्फ मीडिया ट्रायल को रोकने बल्कि न्यूज़ चैनल्स से प्रोग्राम कोड का पालन करते हुए छवि ख़राब करने वाले कंटेंट को हटाने की भी मांग की गई है। आरोप है कि उक्त चैनल्स ने बॉलीवुड को लेकर बेहद भद्दी भाषा ‘गंदगी’, ‘मैल’ और ‘ड्रग्स’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए छवि बिगाड़ने की कोशिश की है। इस याचिका के लिए 34 बड़े प्रोडक्शन हाउस और 4 फ़िल्म संस्थाएं एक साथ आई हैं।

याचिका करने वालों में ये संस्थाएं शामिल हैंः मैकगफिन पिक्चर्स, नाडियाडवाला ग्रैंडसन एंटरटेनमेंट, कबीर खान फिल्म्स, लव फिल्म्स,राकेश ओमप्रकाश मेहरा पिक्चर्स, रेड चिलीज एंटरटेनमेंट, रिलायंस बिग एंटरटेनमेंट, रील लाइफ प्रोडक्शंस, रोहित शेट्टी पिक्चर्स, रॉय कपूर प्रोडक्शंस, सलमान खान वेंचर्स, सोहेल खान प्रोडक्शंस, वन इंडिया स्टोरीज, द प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया, द सिने ऐंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन, द फिल्म ऐंड टीवी प्रोड्यूसर्स काउंसिल स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन शामिल हैं।

इसके साथ ही आमिर खान प्रोडक्शंस, ऐड-लैब फिल्म्स, अजय देवगन फिल्म्स, आंदोलन फिल्म्स, अनिल कपूर फिल्म ऐंड कम्युनिकेशन नेटवर्क, अरबाज खान प्रोडक्शंस, आशुतोष गोवारिकर प्रोडक्शंस, बीएसके नेटवर्क ऐंड एंटरटेनमेंट, केप ऑफ गुड फिल्म्स, क्लीन स्लेट फिल्म्स, धर्मा प्रोडक्शंस, एमे एंटरटेनमेंट ऐंड मोशन पिक्चर्स, एक्सेल एंटरटेनमेंट, फिल्मक्राफ्ट प्रोडक्शंस, होम प्रोडक्शन, सिख्या एंटरटेनमेंट, टाइगर बेबी डिजिटल, विनोद चोपड़ा फिल्म्स, विशाल भारद्वाज फिल्म और यशराज फिल्म्स।

Join the Conversation

1 Comment

  1. It is not correct away. That all filmmakers and actress are blaming on media trial that the media are showing unacceptable word against the actress and film makers. But I want to ask them that when you show in your film against Hindu God to should send to jail all producers.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *