कतर में दोहा एयरपोर्ट पर ऑस्ट्रेलिया जा रही महिला को शारीरिक जांच से गुजरना पड़ा। इस दौरान उनके प्राइवेट पार्ट्स की भी जांच की गई। इस घटना के सामने आने के बाद मुद्दा गरमा गया है। दोनों देशों के बीच तल्खी देखी जा रही है। हालांकि ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री ने बुधवार को कहा, कतर के अधिकारियों ने महिलाओं के साथ इस व्यवहार पर खेद व्यक्त किया।

ऑस्‍ट्रेलिया के विदेश मंत्री ने कहा कि ऐसा व्यवहार 10 अलग-अलग विमानों में यात्रा कर रही, महिला यात्रियों के साथ हुआ है। इससे पहले भी एक ग्रभवती महिला को कतर एयरवेज के विमान से उतरने के लिए मजबूर कर दिया गया था। इस दौरान उनके प्राइवेट पार्ट्स की भी जांच की गई थी। आपको बता दें कि कुछ समय पहले कतर एयरपोर्ट के बाथरूम से एक नवजात बच्‍चा लावारिस अवस्था में मिला था।

ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिज पायने ने बुधवार को को कहा कि विमानों की संख्या पहले की तुलना में बहुत अधिक थी। उन्होंने संसद को बताया कि कुल 10 विमान की महिला यात्रियों के साथ ऐसा बर्ताव किया गया। पायने ने कहा कि 18 महिलाएं (13 ऑस्ट्रेलिया की थीं) को 2 अक्टूबर को सिडनी जाने के दौरान ऐसी परिस्थितियों से गुजरा पड़ा। इनमें एक फ्रांस की महिला भी शामिल थी।

ऑस्ट्रेलिया के विदेश मामलों और व्यापार विभाग के प्रमुख फ्रांसिस एडम्सन ने कहा कि ऐसी गहन पूछताछ कैसी हो सकती है। यह बहुत ही गंभीर और परेशान करने वाला मामला है। अधिकारियों ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया भी अन्य देशों के साथ दोहा के समक्ष इस मामले को गंभीरता से उठाने की तरफ आगे बढ़ रहा है। हालांकि उन्होंने उन देशों का नाम लेने से इनकार कर दिया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *