सीबीआई ने अपने ही एक पूर्व अधिकारी को रिश्वत लेने के एक मामले में गिरफ्तार किया है। केंद्रीय जांच ब्यूरो में पुलिस अधीक्षक के पद से सेवानिवृत होने वाले एनएमपी सिन्हा को गिरफ्तार करने के बारे में शनिवार को जानकारी दी गई है। एनएमपी सिन्हा इसी साल अगस्त में रिटायर हुए थे। बताया जा रहा है कि रिटायर होने से पहले वो सीबीआई के आर्थिक अपराध शाखा में पदस्थापित थे।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के एसपी रहे एनएमपी सिन्हा को शनिवार को रिश्वतखोरी के आरोप में नई दिल्ली से गिरफ्तार किया गया। उन पर 25 लाख रुपये की रिश्वत लेने का आरोप है। सीबीआई ने उनके साथ एक अन्य युवक को भी गिरफ्तार किया है। एनएमपी सिन्हा सीबीआई में पूर्व विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी भी रह चुके हैं।

सिन्हा एक महीने पहले केंद्रीय जांच एजेंसी से रिटायर हुए थे। उन पर सीबीआई में किसी मामले को एक पक्ष में कराने के बदले रिश्वत की रकम लिए जाने का आरोप है। हालांकि यह रिश्वत किस मामले में ली गई है? इसका अभी खुलासा नहीं हुआ है। एनएमपी सिन्हा इससे पहले भ्रष्टाचार निरोधक दस्ते में एएसपी भी रह चुके हैं। एनएमपी सिन्हा सीबीआई में पूर्व विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के ओएसडी रह चुके हैं..बता दें कि अस्थाना को पिछले माह बीएसएफ का डीजी बनाया गया है।

एनएमपी सिन्हा के बारे में आपको बता दें कि यह वहीं अधिकारी हैं जो बिहार के चर्चित चारा घोटाले की जांच करने वाली टीम का हिस्सा थे। इस मामले में बिहार के कई चर्चित चेहरे आरोपी थे और राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव अभी भी इस मामले में जेल की सजा काट रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *