कोरोना वायरस के मामलों के चलते चीन ने गुरुवार को भारत से आने वालीं सभी फ्लाइट्स को सस्पेंड कर दिया है। पिछले सप्ताह वंदे भारत मिशन के तहत उड़ान भर रही फ्लाइट में कई यात्री कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। चीन ने यह रोक अनिश्चितकालीन समय के लिए लगाई है। भारत और चीन के बीच अभी तक कमर्शियल फ्लाइट्स की शुरुआत नहीं हुई है, लेकिन भारत की सरकारी एयरलाइंस कंपनी एयर इंडिया वंदे भारत मिशन के तहत चीन के विभिन्न शहरों के लिए उड़ान भर रही है।

चीन ने इसी तरह का ऐलान ब्रिटेन, बेल्जियम और फिलिपीन्स देशों से आने वाले हवाई यात्रियों के लिए भी किया है। वहीं, अमेरिका, फ्रांस और जर्मनी से आने वाले यात्रियों से उनके हेल्थ टेस्ट रिपोर्ट्स मांगी गई हैं। चीन ने यह कदम दुनियाभर में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों के चलते उठाया है। बीजिंग का यह आदेश उसके 28 सितंबर के आदेश के उल्ट है। उस आदेश में चीन ने वैध निवास परमिट वाले सभी विदेशियों को प्रवेश की अनुमति दी थी। चीन ने कोरोना वायरस महामारी के चलते मार्च अंत में विदेशी यात्रियों की अपने देश में एंट्री पर रोक लगा दी थी। वहीं, भारत और चीन वंदे भारत मिशन के तहत कुछ फ्लाइट्स का संचालन कर रहे थे।

बीजिंग में अधिकारियों ने बताया कि 1500 से ज्यादा भारतियों ने चीन वापस लौटने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। ऐसे में बीजिंग के नए आदेश के बाद उनका अभी चीन लौटना मुश्किल हो गया है। चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि महामारी से लड़ने के लिए यह कदम उचित है।

बता दें कि पिछले शुक्रवार को नई दिल्ली से वुहान के लिए गई एयर इंडिया की फ्लाइट में 23 भारतीय कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद एयर इंडिया के अधिकारी ने बताया था कि कोरोना पॉजिटिव पाए सभी यात्री कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लेकर विमान में सवार हुए थे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *