तमिलनाडु के प्रमुख दल डीएमके के नेता और राज्यसभा सदस्य आरएस भारती को कुछ महीने पहले एक विशेष समुदाय SC के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में शनिवार 23 मई को गिरफ्तार कर लिया गया. वहीं पार्टी के संगठन सचिव ने आरोप लगाया कि उन्हें एआईडीएमके की सरकार में भ्रष्टाचार के मामलों को उजागर करने की कोशिश करने के लिए निशाना बनाया जा रहा है.

फरवरी में दिया था बयान
73 साल के भारती को एक विशेष समुदाय के खिलाफ बयान देने के आरोप में सुबह उनके घर से गिरफ्तार किया गया. उनके खिलाफ इस संबंध में हाल ही में मामला दर्ज किया गया था.

इस मामले में भारती ने कहना है कि फरवरी में पार्टी की एक बैठक में उन्होंने जो बयान दिया था, उसे ‘‘तोड़ा-मरोड़ा’’ गया है. उन्होंने कहा कि इस संबंध में किसी समाचार पत्र में कोई खबर नहीं छपी थी, लेकिन ”सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने मेरे खिलाफ मुहिम छेड़ दी.’’

1 जून तक मिली जमानत
इस बीच रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्थानीय कोर्ट ने कुछ घंटों की गिरफ्तारी के बाद 1 जून तक भारती को जमानत पर रिहा कर दिया है.

पार्टी के वरिष्ठ नेता भारती ने चेन्नई में प्रेस से बात करते हुए कहा कि उन्होंने मीडिया में सामने आए एक मामले पर ‘‘प्रतिक्रिया’’ दी थी और यह बात हुए 100 से अधिक दिन बीत चुके हैं. उन्होंने कहा, ‘‘वे मुझे आज गिरफ्तार करने आए.’’

उन्होंने दावा किया कि सरकार में भ्रष्टाचार के कुछ मामलों का खुलासा करने के कारण उन्हें निशाना बनाया जा रहा है.

ReportLook Desk

Reportlook Media Network

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *