नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) के सीनियर नेता अहमद पटेल (Ahmed Patel) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम पूछताछ के लिए उनके घर पर पहुंची है. कहा जा रहा है कि संदेसरा घोटाले (Sandesara Scam) में उनका बयान रिकॉर्ड किया जा रहा है. अहमद पटेल ने जांच एजेंसी को कहा था कि उनकी उम्र 60 साल से ज्यादा है इसलिए वो पूछताछ के लिए ईडी के ऑफिस नहीं जा सकते हैं. इसी को देखते हुए ईडी की टीम शनिवार को उनके घर पहुंची.

क्या है संदेसरा घोटाला?

ईडी के मुताबिक संदेसरा स्कैम पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के घोटाले से भी बड़ा है. ईडी के सूत्रों के मुताबिक स्टर्लिंग बॉयोटेक कंपनी लिमिटेड और संदेसरा ग्रुप के मेन प्रमोटर नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा ने फर्जी कंपनियां बनाकर कई बैंकों को करीब 14,500 करोड़ का चूना लगाया. पिछले साल ईडी ने इस मामले की जांच के तहत स्टर्लिंग बायोटेक की 9,000 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त की थी. इसमें नाइजीरिया में तेल रिग, पोत, एक कारोबारी विमान और लंदन में एक आलीशान फ्लैट शामिल है. इसी घोटाले के तहत अहमद पटेल से पूछताछ की जा रही है.

अक्टूबर में सीबीआई ने दर्ज की थी FIR
अक्टूबर 2017 में संदेसरा ग्रुप पर सीबीआई के एफआईआर दर्ज करने के बाद ईडी ने केस दर्ज किया था. सीबीआई ने 5383 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में संदेसरा ग्रुप के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी.

पटेल पर कई और आरोप
बता दें कि इस साल फरवरी में अहमद पटेल को आयकर विभाग ने एक और मामले में समन जारी किया था. पटेल को 400 करोड़ रुपये के हवाला ट्रांजेक्शन मामले में ये नोटिस जारी कर पेश होने का आदेश दिया गया था. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट अलग-अलग कंपनियों द्वारा भेजे गए हवाला ट्रांजेक्शन की जांच कर रहा है. आरोप है कि हवाला की रकम कांग्रेस के खातों में भी आया था. बताया जा रहा है कि करीब 400 करोड़ से ज्यादा की रकम कांग्रेस के खातों में आई थी.

ReportLook Desk

Reportlook Media Network

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *