दिल्ली/हाथरस. उत्तर प्रदेश स्थित हाथरस (Hathras News) में बलात्कार पीड़िता के परिवार ने शनिवार को विशेष जांच दल (एसआईटी) पर आरोपियों के साथ ‘मिले’ होने का आरोप लगाया और मांग की है कि मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो. दिवंगत 19 वर्षीय महिला की मां ने कहा कि उनकी मौत के बाद पुलिस ने उनकी बेटी का शव नहीं सौंपा. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के जज की निगरानी में जांच की मांग की और कहा कि परिवार को एसआईटी या सीबीआई पर भरोसा नहीं है.

मां ने कहा कि ‘इन लोगों ने मुझे भीख मांगने के बाद भी अपनी लड़की का शरीर नहीं देखने दिया. हम सीबीआई जांच भी नहीं चाहते हैं. हम चाहते हैं कि मामले की जांच सर्वोच्च न्यायालय के जज के अधीन हो. हम नार्को टेस्ट क्यों कराएं, हमने अपना बयान कभी नहीं बदला.

बता दें कि दो दिनों के बाद हाथरस जिला प्रशासन ने शनिवार सुबह मीडिया को पीड़ित के गांव में प्रवेश करने की अनुमति दी.

दिल्ली/हाथरस. उत्तर प्रदेश स्थित हाथरस (Hathras News) में बलात्कार पीड़िता के परिवार ने शनिवार को विशेष जांच दल (एसआईटी) पर आरोपियों के साथ ‘मिले’ होने का आरोप लगाया और मांग की है कि मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो. दिवंगत 19 वर्षीय महिला की मां ने कहा कि उनकी मौत के बाद पुलिस ने उनकी बेटी का शव नहीं सौंपा. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के जज की निगरानी में जांच की मांग की और कहा कि परिवार को एसआईटी या सीबीआई पर भरोसा नहीं है.

मां ने कहा कि ‘इन लोगों ने मुझे भीख मांगने के बाद भी अपनी लड़की का शरीर नहीं देखने दिया. हम सीबीआई जांच भी नहीं चाहते हैं. हम चाहते हैं कि मामले की जांच सर्वोच्च न्यायालय के जज के अधीन हो. हम नार्को टेस्ट क्यों कराएं, हमने अपना बयान कभी नहीं बदला.

बता दें कि दो दिनों के बाद हाथरस जिला प्रशासन ने शनिवार सुबह मीडिया को पीड़ित के गांव में प्रवेश करने की अनुमति दी.

एक राजनीतिक नेता के साथ परिवार की बातचीत के कथित टेप पर बोलते हुए, उन्होंने कहा, ‘हमारे परिवार के किसी भी व्यक्ति ने किसी भी राजनीतिक नेता से बात नहीं की. मुझे नहीं लगता कि राजनेताओं का यहां आना हमारे लिए अच्छा रहेगा. हम अपनी लड़की के लिए न्याय चाहते हैं.’

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *