नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने शनिवार को मुंबई में मशहूर कॉमेडियन भारती सिंह और उनके पति हर्ष के घर की तलाशी ली और कुछ मात्रा में गांजा बरामद किया। एनसीबी के अधिकारी ने पूछताछ के लिए समन किया, जिसके बाद शनिवार दोपहर भारती सिंह एनसीबी दफ्तर पहुंच गईं।

एनसीबी के अधिकारी ने बताया कि यह तलाशी बॉलीवुड जगत में ड्रग्स के कथित उपयोग की एनसीबी द्वारा की जा रही जांच के तहत ली गई है। अधिकारी ने बताया कि एनसीबी के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े के नेतृत्व में एक टीम ने विशेष जानकारी के आधार पर भारती सिंह के अंधेरी स्थित लोखंडवाला कॉम्प्लेक्स स्थित आवास की तलाशी ली। उनके घर से थोड़ी मात्रा में ड्रग्स बरामद किया गया है। उन्होंने कहा, ”सिंह का नाम एक ड्रग कारोबारी से पूछताछ के दौरान सामने आया था।” अधिकारी ने कहा कि एजेंसी महानगर में दो अन्य स्थानों पर भी तलाशी ले रही है।

भारती सिंह टीवी पर कई कॉमेडी और रियलिटी शो में दिखती रही हैं। एनसीबी जून में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में ड्रग्स के कथित उपयोग की जांच कर रही है। इससे पहले एनसीबी ने अभिनेता अर्जुन रामपाल और फिल्म निर्माता फिरोज नाडियावाला के घर पर भी ड्रग्स की जांच के सिलसिले में इस महीने की शुरुआत में छापा मारा था।

बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन रामपाल से ड्रग्स केस के एक मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने 13 नवंबर को को करीब 7 घंटे तक पूछताछ की थी। एनसीबी की पूछताछ के बाद रामपाल ने संवाददाताओं से कहा था कि मादक पदार्थ से मेरा कोई लेना देना नहीं है। मेरे आवास पर जो दवाइयां मिली थी, उसकी पर्ची मेरे पास है और पर्ची को एनसीबी अधिकारियों को सुपुर्द किया जा रहा है।

रामपाल के दोस्त को एनसीबी कर चुकी है गिरफ्तार

अर्जुन रामपाल के विदेशी दोस्त पॉल बार्टल को 12 नवंबर को पूछताछ के बाद एनसीबी ने अगले दिन गिरफ्तार कर लिया था। अभिनेता के बांद्रा में आवास पर छानबीन के बाद एनसीबी ने रामपाल और उनकी पार्टनर डेमेट्रिएडेस को तलब किया था। एजेंसी ने लैपटॉप, मोबाइल फोन और टैबलेट इत्यादि इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जब्त करने के साथ ही रामपाल के वाहन चालक से भी पूछताछ की थी। एनसीबी ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से आधिकारिक सूचना मिलने के आधार पर हिंदी फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों के ड्रग्स लेने और रखने के मामले जांच शुरू की है। इस दौरान एनसीबी को कई चैट मिली है और यह सब कुछ अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद शुरू हुआ है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *