तेलंगाना में किडनैपिंग का अजीब मामला सामने आया है। यहां बुर्का पहने हुए चार लोगों ने एक डॉक्टर को किडनैप कर लिया। एक और हैरान करने वाली बात है कि किडनैपर डॉक्टर से कैश नहीं बल्कि फिरौती में 10 करोड़ बिटकॉइन मांग रहे थे। पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद डॉक्टर को छुड़ा लिया। किडनैपर्स ने जिस बंदूक की नोक पर डॉक्टर का अपहरण किया था वह भी नकली निकली।

रंगा रेड्डी जिले में किस्मतपुर अस्पताल में काम करने वाले डॉक्टर हुसैन को मंगलवार दोपहर किडनैप कर लिया गया। उन्हें एक सुनसान इलाके में कमरे में बंद करके रखा गया। पुलिस के मुताबिक किडनैपर मराठी में बात कर रहे थे। किडनैपर्स ने डेंटिस्ट को चार दूसरे लोगों को सौंप दिया जो कि बोलेरो से आए थे। उन्हें बेंगलुरु या शिवमोगा जाने के लिए कहा गया।

साइबराबाद पुलिस ने किडनैपर्स को पकड़ने के लिए पुलिस की 10 स्पेशल टीमें बनाईं। सीसीटीवी फुटेज खंगाले जाने लगे। चेकिंग शुरू हो गए। 57 साल के डॉक्टर हुसैन बंडलागुडा के के रहने वाले हैं और एक प्राइवेट अस्पताल में काम करते हैं। अस्पताल में इस समय निर्माण का कुछ काम भी चल रहा था। जिस गाड़ी में डॉक्टर को ले जाया जा रहा था, पुलिस उसका पीछा कर रही थी। पुलिस ने गाड़ी को घेर लिया और डॉक्टर को बचा लिया।

एक किडनैपर भी गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं तीन अन्य खेतों में भाग गए और फरार हो गए। डेंटिस्ट कार में ही रस्सी से जकड़े हुए पड़े थे। पुलिस ने यह भी बताया कि डॉक्टर को विरासत में काफी संपत्ति मिली थी और किडनैपर्स को यह बात भी पता थी।

यूपी के हरदोई में भी किडनैपिंग का एक मामला सामने आया जिसमें किशोरी को कार सवार दो लोगों ने अगवा कर लिया। उसे बाद में एक कमरे में बंद कर दिया गया। किशोरी को जब होश आया तो वह खिड़की तोड़कर फरार हो गई। किशोरी ने बताया कि वह शौच के लिए गई थी। तभी कार से आए दो लोगों ने रुमाल सुंघाकर उसे बेहोश कर दिया और किडनैप कर लिया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *