बसपा सांसद अफजाल अंसारी ने रविवार को उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर उनके परिवार के खिलाफ राजनीतिक बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाया। गाजीपुर से सांसद अफजाल ने कहा कि निर्भया के अपराधियों को भी स्थानीय अदालत से लेकर उच्चतम न्यायालय तक अपील का मौका मिला था, लेकिन योगी सरकार ने अंसारी परिवार के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए संवैधानिक परम्पराओं और कानूनों को पूरी तरह ताक पर रख दिया है।

उन्होंने ‘भाषा’ से बातचीत में कहा कि योगी सरकार उनके विधायक भाई मुख्तार अंसारी समेत परिवार के अनेक सदस्यों के खिलाफ साजिश के तहत काम कर रही है और आज गाजीपुर में होटल को ध्वस्त करना राजनीतिक प्रतिशोध की कार्रवाई के सिलसिले की ताजा कड़ी है।

अफजाल ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीन बार सभा होने और सारी ताकत झोंकने के बाद भी भाजपा प्रत्याशी मनोज सिन्हा की सवा लाख मतों से करारी पराजय की बौखलाहट में भाजपा सरकार राजनीतिक प्रतिशोध की हदें पार कर रही है।

उन्होंने कहा कि उनके तकरीबन 40 साल के राजनीतिक जीवन में पहले कभी किसी सरकार ने ऐसी बदले की भावना से काम नहीं किया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार आम जनता से जुड़े मुद्दों से ध्यान हटाने और अपनी नाकामियों पर पर्दा डालने के लिए यह सब कर रही है।

गौरतलब है कि अफजाल के भाई मुख्तार और उनके सहयोगियों पर योगी सरकार लगातार शिकंजा कस रही है। पिछले कुछ समय से मुख्तार, उनके रिश्तेदारों और सहयोगियों की सम्पत्तियों को ध्वस्त और जब्त करने की कार्रवाई की जा रही है। रविवार की गाजीपुर में मुख्तार परिवार के होटल गजल को भी ध्वस्त कर दिया गया। इसके अलावा अफजाल की पत्नी पर भी पिछले बृहस्पतिवार को लखनऊ में ‘निष्क्रांत सम्पत्ति’ (ऐसी संपत्ति जिसका स्‍वामी उसे छोड़कर विदेश चला गया हो) पर अवैध कब्जे के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *