मथुरा. उत्तर प्रदेश में मथुरा जिले के थाना बरसाना में आनंद गांव के आनंद भवन स्थित मंदिर में दिल्ली निवासी फैजल और उसके दोस्त चांद के नमाज पढ़े जाने का मामला बढ़ता ही जा रहा है। अब इस मामले में मंदिर के सेवादार कान्हा गोस्वामी की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी युवकों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। साथ ही एसएसपी मथुरा ने इस पूरे मामले की जांच खुफिया विभाग को सौंपी है। इसके अलावा मंदिर में नमाज पढ़ने और उसकी फोटो वीडियो वायरल करने के पीछे आखिर क्या वजह थी अब पुलिस इसकी भी जांच कर रही है।

मंदिर में नमाज की फोटो वायरल

जिस फेसबुक आईडी से यह फोटो वायरल की गई थी, वह मथुरा के मां टोल पर पकड़े गए चार पीएफआई संदिग्धों के अधिवक्ता की है। वहीं मंदिर में नमाज पढ़ने का मामला वायरल होने के बाद अब तमाम हिंदूवादी संगठनों और साधु-संतों में भारी गुस्सा है और उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लेने के लिए प्रशासन से गुजारिश की है। इन्होंने पुलिस अधिकारियों और जिला प्रशासन से अनुरोध किया है कि इन लोगों ने दो गलत काम किये हैं। पहला उन्होंने मंदिर में नमाज पढ़ा और दूसरा उन्होंने इसकी फोटो भी खींची। मंदिर में नमाज पढ़ा जाना गलत है। उन्होंने इस मामले में सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए सच्चाई सामने लाने की बात कही है।

ये था पूरा मामला

आपको बता दें कि मंदिर में नमाज पढ़े जाने की इन तस्वीरों के बारे में मंदिर के कान्हा गोस्वामी ने बताया कि 29 अक्टूबर को 4 युवक नंदगांव मंदिर आये थे, जिसमें से एक युवक ने टोपी लगा रखी थी। टोपी लगाए युवक को मंदिर में देख हम भी हैरान हुए थे। टोपी में मंदिर में आने पर फैजल ने पुजारी से कहा कि क्या कृष्ण आपके ही है। कृष्ण हम सबके है। इसके बाद फैजल ने वहां खड़े लोगों और पुजारी को रामायण की कई चौपाई भी सुनाई थी। जानकारी पर दिल्ली निवासी युवको ने बताया कि वह साइकिल से ब्रज चौरासी कोस यात्रा करने आये हैं। दर्शन और बातचीत के बाद मंदिर के पुजारी ने उन्हें प्रसाद दिया और उसके बाद वे चारों युवक दर्शन कर मंदिर परिसर में घूमते हुए आगे चले गए। जिसके बाद अब फोन और सोशल मीडिया से पता चला कि उन युवकों ने मंदिर के किसी कोने में नमाज पढ़ी थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *