मुजफ्फरपुर. डिस्मिल जमीन के विवाद में दो लोगों की धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी गयी. मरने वाले विरेन्द्र गांधी और राजकुमार साह चाचा भतीजा हैं. राजकुमार आरएसएस व भाजपा (RSS and BJP) से जुड़े बताए जा रहे हैं , हत्या का आरोप उनके पट्टीदारों पर ही लगा है. घटनाऔराई थाना के नयागांव बैसी टोला की है. बताया जा रहा है कि मृतक विरेन्द्र गांधी निजी स्कूल संचालक हैं जबकि उनके भतीजे राजकुमार साह किराना दुकानदार थे.

मिली जानकारी के मुताबिक विरेन्द्र गांधी और उनके पट्टीदार गणेश साह एवं दिनेश साह के परिवार के बीच कई सालों से एक दो डिसमिल जमीन को लेकर विवाद चल रहा है. मामले में पूर्व में पुलिस शिकायत भी की गयी थी. इसी जमीन पर स्कुल संचालक विरेन्द्र गांधी अपना डेरा बनवा रहे थे.

शुक्रवार की शाम को दिनेश साह और गणेश साह अपने बेटे पत्नी और अन्य गुर्गों के साथ आया और काम करवा रहे विरेन्द्र गांधी पर हमला कर दिया. वहां मौजूद राजकुमार को भी हमलावरों नें पीट पीट कर बेहोश कर दिया. इसकी जानकारी जब उनके परिवार वालों को लगी तो वे बचाने पहुंचे

आरोप है कि गणेश साह के बेटे धर्मेन्द्र और रघुनाथ नें महिलाओं और बूढे बुजुर्गों पर हमला कर दिया. विरोध में दूसरे पक्ष से भी मारपीट की ओर से मौके पर मौजूद लोगों नें हमलावरों के साथ मारपीट की. जब हमलावर फरार हो गये तो बेहोश विरेन्द्र और राजकुमार को औराई पीएससी ले जाया गया. जहां से दोनों को एसकेएमसीएच रेफर कर दिया गया. एसकेएमसीएच में दोनों की मौत हो गयी.

इसी बीच आरोपी गणेश साह दिनेश साह, धर्मेन्द्र और रघुनाथ भी घायल बताते हुए इलाज के लिए एसकेएमसीएच पहुंचे. वहां मौजूद ग्रामीणों नें एम्बुलेंस में घेरकर चारों की पिटाई कर दी. अस्पताल के गार्ड और अहियापुर कैम्प की पुलिस नें उन्हें भीड़ से बचाया. इस बीच तीन आरोपी फरार हो गये जबकि एक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

एसएसपी जयंतकांत के आदेश पर अहियापुर की मेडिकल कैम्प पुलिस नें दोनो शवों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है. शनिवार को शवों का पोस्टमार्टम कराया जाएगा. इस घटना को लेकर गांव में काफी तनाव है और आरोपी परिवार घर छोड़कर फरार है. औराई पुलिस गांव में कैम्प कर रही है. इस मामले में एसएसपी नें औराई थाना और डीएसपी ईस्ट मनोज कुमार को गहराई से छानबीन के आदेश दिए हैं.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *