नई दिल्ली: जहां एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना वायरस को हराने में जुटी वहीं पाकिस्तान अब भी अपनी हरकतों से बाज आता नहीं दिखाई दे रहा है. पाकिस्तान ने ओमान की राजकुमारी के नाम से फर्जी अकाउंट बनाकर भारतीयों को ओमान से निकालने की बात कही है. हालाकि पाकिस्तान के इस प्रोपगेंडा में भारतीय मीडिया खुद फस गया और इस फर्जी खबर को चलाया किन्तु गलती का एहसास होने के बाद पूरी खबर को बदल दिया गया है और फैक्ट चैकिंग की ढिंगे हांक रहा है।

ओमान की राजकुमारी मोना बिंते फहाद अल सैय्यद के नाम से एक फेक ट्विटर अकाउंट बनाकर उससे ट्वीट किए. इस ट्वीट में लिखा गया, ” अगर भारत में मुस्लिमों पर हो रहा उत्पीड़न नहीं रुका तो ओमान यहां काम कर रहे दस लाख भारतीयों को अपने देश से निकाल देगा.” इस अकाउंट में राजकुमारी की फोटो भी लगाया गया. साथ ही बायो में उनका नाम लिखा गया. साथ में इसमें पैरोडी भी लिखा गया ताकि ट्विटर इसे ब्लॉक ना करे.

इस फर्जी ट्वीट के बाद ओमान की राजकुमारी मोना बिंते फहाद खुद सामने आईं और इस पूरे मामले पर अपनी सफाई दी. उन्होंने कहा कि उनकी तरफ से ऐसा कोई ट्वीट नहीं किया गया है. मोना ने अपने ऑफिशियल अकाउंट के बारे में जानकारी दी. साथ ही ये भी बताया कि इस अकाउंट से उनका कोई लेना देना नहीं है

राजकुमारी के नाम से किया गया ये ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ. लोग इस ट्वीट के बाद अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं देने लगे. यहां तक की पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने इस ट्वीट के बाद एक बयान भी जारी कर दिया.

वहीं बाद में इस फर्जी अकाउंट का खुलासा हुआ. दरअसल इस अकाउंट का यूजरनेम पाक फौज है. जिसे बदलकर राजकुमारी के नाम से बनाया गया. इसके बाद इस अकाउंट के जरिए फर्जी ट्वीट किए गए. इस अकाउंट के और ट्वीट जब खंगाले गए तो पता चला कि ये अकाउंट पाक आर्मी की तरफ से बनाया गया है.

आपको बता दे हमारे पोर्टल ने भी इस खबर को प्रमुखता से दिखाया था किन्तु हमने यह खबर इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के आधार पर प्रकाशित किया था जिसे अब बदल दिया गया है किन्तु गूगल पर सर्च करने पर अभी भी आपको वहीं हेडलाइन नजर आएगी क्यों की क्रॉलर को इंडेक्स करने में समय लगता है।

नीचे देखिए आज तक द्वारा प्रकाशित की गई खबर के हेडलाइन का स्क्रीनशॉट जिसे अब बदल दिया गया है।

आज तक द्वारा प्रकाशित खबर का स्क्रीनशॉट जिसे अब बदल दिया गया है। लेकिन हेडलाइन अब भी मौजूद है जिसे सर्च कर देखा जा सकता है

ReportLook Desk

Reportlook Media Network

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *