झांसी में पंचायत का तुगलकी फरमान सामने आया है। पंचायत ने अंतर जातीय विवाह करने पर युवक और युवती के सामने ऐसी शर्त रखी जिसे सुनकर हर कोई हैरान रह गया। हालांकि मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस ने केस दर्ज किया है और प्रेमी जोड़े को सुरक्षा दी है।

शहर के एक मोहल्ला निवासी एक युवक द्वारा अंतर जातीय विवाह करने पर थाना प्रेमनगर क्षेत्र में पंचायत बुलाए जाने का मामला सामने आने बाद पुलिस ने प्रेमी जोड़े को सुरक्षा प्रदान की है। साथ ही पंचायत बुलाकर पांच लाख रुपये मांगने वाले व्यक्ति पर भी एफआईआर दर्ज की है। 

शनिवार को भी पुलिस दिन भर मामले में निगाह रखे रही। महानगर के एक मोहल्ले में रहने वाले युवक का विवाह 30 जून 2015 को शहर के ही एक मोहल्ला निवासी युवती से हुआ था। दोनों ही अलग-अलग बिरादरी के हैं। दोनों ने प्रेम किया विवाह था। 

विवाह के बाद से ही समाज के लोगों ने पंचायत करके उनके पूरे परिवार का बहिष्कार कर दिया था। इसको लेकर पंचायत का दौर भी शुरू हो गया था। युवक के पिता ने पंचों से भी गुहार लगाई थी। 

पंचायत ने दो माह का समय देते हुए फैसला सुनाया था कि युवक की पत्नी को गोमूत्र व गोबर का सेवन करना पड़ेगा। इतना ही नहीं, पांच लाख रुपये दंड भी अदा करना होगा। 

इसके लिए दो माह का समय दिया गया था। शुक्रवार को इस मामले में पंचायत होना थी। पंचायत होने से पहले पुलिस पहुंच गई थी। जिस कारण पंचायत नहीं हो सकी थी। 

युवक की तहरीर पर प्रेमनगर पुलिस ने पंचायत बुलाकर पांच लाख रुपये मांगने, रुपये न देने पर समाज में शामिल न करने व गाली गलौज किए जाने के मामले में हंसारी के ग्वालटोली निवासी जल्लू माते पर एफआईआर दर्ज की है। एसएसपी डी प्रदीप कुमार ने बताया कि प्रेमी जोडे़ को पुलिस सुरक्षा भी प्रदान की गई है। पुलिस मामले की जांच भी कर रही है।

ReportLook Desk

Reportlook Media Network

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *