करौली. जिले के सपोटरा इलाके के बुकना गांव में पुजारी को जलाकर मार डालने (Priest murder case) के मामले में एक नया मोड़ सामने आया है. मामले की जांच में जुटी जांच एजेंसी के सामने पुजारी द्वारा एक पेट्रोल पंप से बोतल में पेट्रोल खरीदने (Petrol) के वीडियो और फोटो सामने आए हैं. यह वीडियो और फोटो पुलिस तथा सीबी-सीआईडी को भी उपलब्ध कराए गए हैं. यह वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर भी जमकर वायरल हो रहा है.

हालांकि, पुलिस और सीबी-सीआईडी सीबी ने अभी तक इस प्रकार के किसी भी खुलासे से इनकार किया है. सूत्रों का कहना है कि पुजारी ने घटना के कुछ घंटों पहले सपोटरा-नरौली सड़क मार्ग पर बूकना मोड़ के पास स्थित एक पेट्रोल पंप से पेट्रोल खरीदा था. यह वीडियो सामने आने के बाद चर्चाओं का दौर एक बार फिर तेज हो गया है. सीबी-सीआईडी की जांच के बाद ही मामले का खुलासा हो पाएगा.

यह था पूरा मामला

उल्लेखनीय है कि गत दिनों बूकना गांव में एक पुजारी बाबूलाल वैष्णव की जलने से मौत हो गई थी. आरोप है कि पुजारी जिस मंदिर की सेवा करता है, उसकी जमीन पर गांव के कुछ दबंग कब्जा करना चाह रहे थे. दबंग जब कब्जा करने आये तो पुजारी ने उनका विरोध किया. इस पर दबंगों ने पुजारी पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी. उसके बाद पुजारी बाबूलाल को जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

राजस्‍थान में गरमाई सियासत
वारदात के बाद पहले ब्राह्मण समाज एकत्र हुआ और बाद में बीजेपी इसमें पुजारी को न्याय दिलाने के लिये आगे आ गई. मामला तूल पकड़ गया और राष्ट्रीय स्तर पर यह सुर्खियों में छा गया था. दो-तीन दिन तक यह मामला राष्ट्रीय स्तर पर गरमाया हुआ रहा.

मामले में गहलोत सरकार पर ढिलाई के आरोप लगे और राजनीति चरम पर रही. इस मामले में आरोपी पक्ष और पुलिस का भी कहना था कि पुजारी ने भूमि विवाद में स्वयं आग लगाई थी. अब पुजारी द्वारा पेट्रोल खरीदने का वीडियो सामने आने के बाद मामला फिर गरमा गया है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *