मुंबई। औरंगाबाद जिले का नाम बदलकर संभाजीनगर रखने के विवाद में अब भाजपा की सहयोगी आरपीआई कूद पड़ी है। आरपीआई अध्यक्ष तथा केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्य मंत्री रामदास आठवले ने औरंगाबाद का नाम बदलने का विरोध किया है। उन्होंने राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार के खिलाफ आंदोलन की चेतावनी दी है।

रविवार को आठवले ने कहा कि औरंगाबाद का नाम बदलने की जिद कुछ लोगों की है। लेकिन आरपीआई का औरंगाबाद का नाम बदलने को लेकर तीव्र विरोध है। औरंगाबाद का नामांतर नहीं होना चाहिए। अगर राज्य सरकार ने जिले का नाम बदलने की कोशिश की तो पार्टी तीव्र आंदोलन करेगी।

आठवले ने कहा कि औरंगाबाद नाम कई वर्षों से है। इसलिए किसी भी कीमत पर जिले के नाम को नहीं बदला जाना चाहिए। आरपीआई की भूमिका अपने प्रमुख सहयोगी भाजपा के विपरीत है। भाजपा ने औरंगाबाद का नाम बदलने की मांग का समर्थन किया है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने कहा था कि हमारे लिए औरंगाबाद का नाम बदलने का मुद्दा राजनीतिक नहीं बल्कि श्रद्धा का विषय है। इधर, महाविकास आघाड़ी सरकार की प्रमुख घटक दल शिवसेना ने औरंगाबाद के नामांतर का समर्थन किया है। जबकि कांग्रेस ने औरंगाबाद के नाम बदलने को लेकर कड़ा विरोध जताया है। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *