उत्तर प्रदेश के बलिया में एक कथित स्थानीय भाजपा नेता की दबंगई का मामला सामने आया है, जिसमें भाजपा नेता ने एसडीएम और सीओ के सामने ही एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं आरोपी युवक को गोली मारने के बाद मौके से फरार भी हो गया था, लेकिन अब खबर आ रही है कि आरोपी को पकड़ लिया गया है। इस घटना का वीडियो भी सामने आया है। जिसमें खुलेआम गोलीबारी होती दिखाई दे रही है।

खबर के अनुसार, घटना बलिया के रेवती थाने के दुर्जनपुर गांव की है। जहां स्थानीय भाजपा कार्यकर्ता धीरेन्द्र सिंह पर जयप्रकाश पाल की गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगा है। दरअसल दुर्जनपुर और हनुमानगंज की कोटे की दो दुकानों के आवंटन को लेकर विवाद हुआ, जो कि हत्याकांड में बदल गया। दुकानों के आवंटन को लेकर पंचायत भवन में बैठक चल रही थी, जिसमें एसडीएम बैरिया सुरेश पाल, सीओ बैरिया चंद्रकेश सिंह, बीडीओ बैरिया गजेन्द्र प्रताप सिंह के साथ ही रेवती थाने की पुलिस फोर्स भी मौके पर मौजूद थी।

दुर्जनपुर की दो दुकानों को लेकर आम सहमति नहीं बन पा रही थी। इसे लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया और दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। इसी दौरान एक पक्ष की तरफ से दूसरे पक्ष के जयप्रकाश को गोली मार दी गई। गोलियां चलते ही घटनास्थल पर अफरा-तफरी मच गई। लोग आनन-फानन में जयप्रकाश को लेकर सीएचसी सोनबरसा पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने जयप्रकाश को मृत घोषित कर दिया।

वहीं प्रशासनिक अधिकारियों के सामने हुए इस हत्याकांड से इलाके में दहशत और तनाव का माहौल है। तनाव को देखते हुए इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। फिलहाल पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी है।

वहीं इस मुद्दे पर राजनैतिक बयानबाजी शुरू हो गई है। कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने इस घटना को लेकर यूपी की योगी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि ‘उत्तर प्रदेश में बीजेपी कार्यकर्ताओं को गुंडागर्दी का लाइसेंस है। जब शासक अपराधी हो, कानून गुंडों की दासी हो तो संविधान को रौंदना राजधर्म बन जाता है।’

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *