इंदौर. इंदौर में प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए कम्प्यूटर बाबा के आश्रम पर बुलडाजर चलाया है। बता दें कि बाबा ने दो एकड़ सरकारी जमीन पर कब्जा कर रखा था। इसके साथ ही पुलिस ने बाबा के साथ ही उनके 6 और साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। कम्प्यूटर बाबा ने इंदौर के गोम्टीगिरी स्थित आश्रम को अवैध रूप से बनाया था। जिस पर प्रशासन ने दो महीने पहले नोटिस भेज था।

दरअसल, जिला प्रशासन इंदौर ने रविवार सुबह बड़ी कार्यवाही करते हुए ग्राम जमूडी हपसी में नामदेव दास त्यागी (कंप्यूटर बाबा ) द्वारा किया गया अतिक्रमण को हटा दिया। कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देशन में ADM अजय देव शर्मा और अन्य SDM तथा पुलिस अधिकारियों की टीम आज सुबह से कार्यवाही कर रही है। कंप्यूटर बाबा ने दो एकड़ की सरकारी भूमि पर कब्जा कर रखा था। मौके पर मौजूद SDM हातोद शाश्वत शर्मा के अनुसार इस संबंध में राजस्व प्रशासन द्वारा इनके विरुद्ध दो हज़ार रुपये का अर्थदंड आरोपित करते हुए शासकीय भूमि के अनाधिकृत क़ब्ज़े से बेदख़ल किए जाने का आदेश पारित किया था। अतिक्रमण नहीं हटाए जाने की स्थिति में प्रशासन द्वारा आज यह कार्यवाही की गई है।

कांग्रेस के लिए प्रचार कर रहे थे बाबा
बता दें कि 2018 में कम्प्यूटर बाबा के समर्थन में सभाएं की थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने पिछले कार्यकाल में कंप्यूटर बाबा को मंत्री का दर्जा दिया था लेकिन जब चुनाव आए तो वे कांग्रेस के पाले में चले गए। पिछले दिनों संपन्न हुए 28 सीटों के विधानसभा उपचुनाव में उन्होंने कांग्रेस का खुलकर साथ दिया था। कमलनाथ सरकार ने उन्हें नर्मदा, क्षिप्रा एवं मंदाकिनी नदी न्यास के अध्यक्ष बनाया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *