महाराष्ट्र के राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी के पत्र में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपने जवाब में स्वयं के हिंदुत्व पर सवालिया निशान लगाने पर राज्यपाल को उत्तर देते हुए कहा है कि मेरे हिंदुत्व को आपके सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं है। इसके साथ मुझे ये किसी से सीखने की जरूरत भी नहीं है।

सीएम ने पत्र में ये भी कहा कि मेरे राज्य या मेरे राज्य की राजधानी को पाक अधिकृत कश्मीर कहने वाले के साथ में हंसते-खेलते उसका अपने घर में स्वागत करूं ये भी मेरे हिंदुत्व में नहीं आता है। ऐसा जवाब देकर उन्होंने परोक्ष रूप से कंगना रनौत पर भी निशाना साधा।

महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक महाराष्ट्र के मंदिरों को दर्शन के लिए खोलने की मांग करते हुए भाजपा ने राज्य में आंदोलन शुरू किया है। इस परिप्रेक्ष्य में राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था जिसमें उठाये गये कुछ प्रश्नों के उत्तर में सीएम उद्धव ठाकरे ने अपनी शैली में राज्यपाल को जवाब लिखा है।

इसके अलावा राज्यपाल ने सीएम को अंग्रेजी में लिखे अपने पत्र में Have you suddenly turned Secular yourselves, the term you hated ऐसा सवाल उनसे पूछा था जिसका जवाब देते हुए ठाकरे ने लिखा है कि आपके मन में ऐसा सवाल क्यों उत्पन्न हुआ है। क्या केवल धर्मस्थल खोलना मतलब हिंदुत्व और नहीं खोलना मतलब सेक्युलर होता है। यदि ऐसा है तो आपने राज्यपाल की शपथ जिस संविधान के अनुसार ली है उस संविधान का महत्वपूर्ण घटक Secularism है तो क्या वह आपको मंजूर नहीं है क्या ऐसा सवाल मुख्यमंत्री ने राज्यपाल से किया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *