उत्तर प्रदेश के मथुरा से दो और साधुओं की मौत का मामला सामने आया है। मथुरा जिले के गोवर्धन इलाके में शनिवार को दो साधुओं की रहस्यमयी हालात में लाश मिली। दोनों गोवर्धन मार्ग पर मौजूद गिरराज बगीची के पीछे बने आश्रम में रहते थे और रामायण का पाठ करते थे। पुलिस को शक है कि दोनों को चाय में जहर मिला कर दिया गया था।

गिरिराज बाग के पीछे बने आश्रम में तीन साधु गोपाल दास (55), श्याम सुंदर दास (60) और रामबाबू दास (60) ने सुबह की चाय पी थी। जिसके बाद दो साधुओं की मौत हो गई, जबकि एक साधु को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आश्रम में साधुओं की मौत की खबर पर प्रशासन में खलबली मच गई। जिलाधिकारी और एसएसपी मौके पर पहुंच गए। फोरेंसिक टीम ने आश्रम में जांच की। स्थानीय लोगों का कहना है कि साधुओं की हत्या साजिश के तहत की गई है।

एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि शनिवार सुबह करीब दस बजे आश्रम में चाय पीने के बाद तीनों साधुओं की तबियत बिगड़ गई। जिसके बाद तीनों को अस्पताल ले जाया गया। जहां गोपाल दास और श्याम सुंदर दास को मृत घोषित कर दिया गया, वहीं रामबाबू दास की हालत गंभीर होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस के अधिकारियों ने लोगों से बातचीत की है। स्थानीय लोगों का कहना है कि साधुओं को साजिशन जहर दिया गया है और उनकी हत्या की गई है। घटना के बाद से पूरे इलाके में दहशत का माहौल है।

टीम ने आश्रम में मिले खाद्य पदार्थों के नमूने लिए हैं। चाय में मिलाए गए दूध तथा अन्य सामान के भी नमूने लिए हैं। एसएसपी ने कहा कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *