लखनऊ. प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) की टीम के कोर मेंबर और कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग (Minority Department) के चेयरमैन शाहनवाज आलम (Shahnawaz Alam) को कुछ अनचीन्हे लोगों (unidentified men) ने अगवा कर लिया.

यह घटना शाहनवाज आलम के घर के बाहर कालीदास मार्ग पर हुई, इसी मार्ग पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) का भी बंगला है. इस जगह से मिले वीडियो फुटेज में दिख रहा है कि इस घटना को जो लोग अंजाम दे रहे है वे पुलिस यूनिफॉर्म में हैं. इस मुद्दे पर कांग्रेस का आरोप है कि यह कार्रवाई यूपी पुलिस ने की है. इस पूरे मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police) ने चुप्पी साध रखी है.

दो कार्यकर्ताओं के साथ थे शाहनवाज

इस वारदात के वक्त शाहनवाज आलम के साथ उनकी पार्टी के दो कार्यकर्ता भी थे. इस मुद्दे पर कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग ने ट्वीट किया है कि शाहनवाज ऑलम के साथ की गई उत्तर पुलिस की कार्रवाई की हम पुरजोर भर्त्सना करते हैं. पुलिस को कानून सम्मत कार्रवाई करनी चाहिए न कि अजय सिंह बिष्ट सरकार के इशारे पर.

प्रियंका ने बसपा और केंद्र पर बोला था हमला

आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव के मामले में केंद्र सरकार का समर्थन करने को लेकर बसपा प्रमुख मायावती पर सोमवार को निशाना साधा और कहा कि वह पहले ही कह चुकी हैं कि कुछ विपक्षी नेता भाजपा के ‘अघोषित प्रवक्ता’ बन गए हैं.

मायावती के ताजा बयान को लेकर प्रियंका ने ट्वीट किया, ‘मैंने कहा था कि कुछ विपक्ष के नेता भाजपा के अघोषित प्रवक्ता बन गए हैं, जो मेरी समझ से परे है.’ कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने कहा, ‘इस समय किसी राजनीतिक दल के साथ खड़े होने का कोई मतलब नहीं है. हर हिंदुस्तानी को हिंदुस्तान के साथ खड़ा होना होगा, हमारी सरजमीं की अखंडता के साथ खड़ा होना होगा.’ उन्होंने कहा, ‘जो सरकार देश की सरज़मीं को गंवा डाले, उस सरकार के ख़िलाफ़ लड़ने की हिम्मत बनानी पड़ेगी.’

ReportLook Desk

Reportlook Media Network

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *