राष्ट्रीय कामधेनु आयोग (RKA) के अध्यक्ष वल्लभभाई कथीरिया ने कहा है कि गाय के गोबर से रेडिएशन को कम करने में मदद मिलती है। उन्होंने सोमवार को गाय के गोबर से बनी एक ‘चिप’ का अनावरण भी किया और दावा किया ये चिप मोबाइल हैंडसेट से निकलने वाले रेडिएशन को काफी हद तक कम कर देती है। कथीरिया ने देशव्यापी अभियान ‘कामधेनु दीवाली’ के लॉन्च के दौरान ये बात कही, जिसका उद्देश्य गोबर से बने उत्पादों को बढ़ावा देना है।

उन्होंने कहा कि ये एक रेडिएशन चिप है। इसे आप अपने मोबाइल में रख सकते हैं। हमने देखा है कि अगर आप इस चिप को अपने मोबाइल में रखते हैं तो ये रेडिएशन को काफी कम कर देती है। उन्होंने कहा, ‘अगर आप बीमारी से बचना चाहते हैं तो इसका इस्तेमाल किया जाएगा।’ बता दें कि चिप का नाम ‘गौसत्त्व कवच’ रखा गया है जिसे राजकोट की श्रीजी गौशाला ने विकसित किया है।

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग अध्यक्ष कहते हैं कि आपने कुछ दिन पहले बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार को सुना होगा। उन्होंने ‘गाय का गोबर खाया’ है। आप इसे खा सकते हैं। ये एक दवाई है। आज हम अपने विज्ञान को भूल गए हैं।

बता दें कि कथीरिया ने एक्टर के उस बयान को आधार बनाया जिसमें उन्होंने कहा था कि कि वो आयुर्वेदिक कारणों से हर दिन गोमूत्र पीते हैं। कथीरिया ने कहा कि अब हमने एक शोध प्रोजेक्ट शुरू किया है। हम उन विषयों पर शोध करना चाहते हैं जिन्हें हम महज मिथक मानते हैं।

कथीरिया ने द इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि 500 से अधिक गौशालाएं एंटी रेडिएशन चिप बना रही हैं। इन्हें 50-100 में खरीदा जा सकता है। एक शख्स इन चिपों को अमेरिका में भी निर्यात कर रहा है जहां इसे करीब 10 डॉलर में बेचा जाता है। पूछने पर कि क्या सरकार ने गोबर से बनी चिप बनाने के लिए फंड मुहैया कराया है, उन्होंने कहा, ‘हमारा विचार गाय गोबर के एंटी रेडिएशन गुण को लोकप्रिय बनाने का है। ये मोबाइल फोन से निकलने वाले रेडिएशन से बचाता है।’

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *