लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा के सामने मंगलवार को आत्मदाह करने वाली अंजना तिवारी उर्फ आयशा की मौत हो गई है. अस्पताल के डॉक्टरों के अनुसार, वह 85 प्रतिशत से ज्यादा जल गई थी और आखिरकार बुधवार रात को वह जिंदगी की जंग हार गई.

अंजना तिवारी का अपने पूर्व पति अखिलेश तिवारी से तलाक होने के बाद आसिफ नाम के युवक से अफेयर हो गया था. आसिफ से शादी करने के लिए उसने इस्लाम धर्म अपनाया और अपना नाम बदल लिया. उसने आरोप लगाया था कि आसिफ अपनी नौकरी के सिलसिले में सऊदी अरब गया है और उसका परिवार उसे परेशान कर रहा था. अंजना महाराजगंज की रहने वाली है.

पुलिस मामले की जांच कर रही

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम उजागर करने से मना किया और कहा कि मामले की जांच चल रही है और अभी तक यह पता नहीं चला है कि यह ‘लव जिहाद’ का मामला है या नहीं.

अंजना को आत्मदाह के लिए उकसाने के आरोप में लखनऊ पुलिस ने राजस्थान के पूर्व राज्यपाल सुखदेव प्रसाद के बेटे कांग्रेस नेता आलोक प्रसाद को गिरफ्तार किया है. आलोक की लोकेशन घटना के दिन और उस समय पर विधानसभा के आसपास पाई गई थी.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *